संसद ग्रंथालय बाल-कक्ष के नियम

बाल-कक्ष के नियम

उद्देश्य   

(एक)      बाल-कक्ष का उद्देश्य बच्चों में पढ़ने की आदत विकसित करना और उन्हें संसद ग्रंथालय तथा संसदीय संग्रहालय और अभिलेखागार के विस्तृत और दुर्लभ संसाधनों का उपयोग करने की सुविधा प्रदान करना है। समाज के वंचित वर्ग के बच्चों पर विशेष बल दिया जाएगा जिनकी अच्छे और साधन सम्पन्न पुस्तकालय तक पहुंच नहीं है।

संगठन

(दो)        बाल-कक्ष संसद ग्रंथालय की शाखा के रूप में कार्य करेगा।

कार्यावधि

(तीन)   बाल-कक्ष सभी कार्य दिवसों में पूर्वाह्न 11.00 बजे से अपराह्न  5.00 बजे तक खुला रहेगा।      

सदस्यता

(चार)    8 वर्ष से 17 वर्ष तक की आयु के बच्चे इस बाल-कक्ष की सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं। बाल-कक्ष की सदस्यता  निम्नलिखित बच्चों को प्रदान की जाएगी   

(क)    संसद ग्रंथालय  की सदस्यता प्राप्त संसद सदस्यों तथा पूर्व सांसदों के बच्चे/पौत्र/पौत्रियां;     

(ख)    लोक सभा सचिवालय, राज्य सभा सचिवालय तथा संसदीय कार्य मंत्रालय के स्थायी कर्मचारियों के बच्चे;         

(ग)    लोक सभा तथा राज्य सभा की प्रेस दीर्घा हेतु प्रत्यायित पत्रकारों के बच्चे;     

(घ)   पंजीकृत गैर-सरकारी संगठनों (निदेशक, संसद ग्रंथालय द्वारा प्राधिकृत) द्वारा प्रायोजित बच्चे

(ड़) मान्यताप्राप्त विद्यालयों द्वारा प्रायोजित बच्चे ।     

सदस्यता प्रपत्र     

(पांच)   सदस्यता के लिए आवेदन निर्धारित प्रपत्र पर करना है। (यह प्रपत्र स्वागत   कार्यालय, संसदीय ज्ञानपीठ में निशुल्क उपलब्ध है और इसे भारत की संसद   की वेबसाइट http:/loksabha.nic.in से भी डाउनलोड किया जा सकता है)।

आगंतुकों का प्रवेश     

(छह)    (क) बाल-कक्ष के लिए आगंतुकों का प्रवेश संसदीय ज्ञानपीठ स्थित स्वागत कार्यालय से होगा।

(ख) संसदीय ज्ञानपीठ स्थित स्वागत कार्यालय, बाल-कक्ष आने वाले बच्चों को संसद ग्रंथालय के संबंधित संयुव्त निदेशक/निदेशक के परामर्श से नैमित्तिक प्रवेश पत्र जारी करेगा।

     

साथ आने वाले व्यव्ति

     

(सात)     बच्चों के साथ आने वाले अध्यापकों, माता-पिता अथवा अन्य   व्यस्कों को आगंतुकों के रूप में बाल-कक्ष में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी, परन्तु वे वहां आवश्यकता से अधिक समय   तक नहीं ठहरेंगे और बच्चे स्वयं ही पुस्तकालय सुविधा का उपयोग करेंगे। उनके साथ आने वाले व्यव्ति बाल-कक्ष के बार स्थित प्रतीक्षा कक्ष में बैठेंगे।

पुस्तकालय दस्तावेजों का अध्ययन

(आठ)   बच्चों को पुस्तकालय के दस्तावेज अर्थात पुस्तकें, संदर्भ ग्रन्थ, पत्रिकाओं और समाचार-पत्र केवल बाल-कक्ष में ही अध्ययन करने के लिए प्रदान किए जाएंगे।

(नौ) बच्चों को केवल कक्ष में ही उपयोग करने के लिए   ''ई-साहित्य`` अर्थात् सी.डी./डी.वी.डी. आदि दी जाएंगी जिन्हें उपयोग के पश्चात् वापस करना होगा।